Kuch Khubsurat Baate Wa Khayalat Peshe Nazar – Iqbal Siddiqui

Kuch Khubsurat Baate Wa Khayalat Peshe Nazar

  • हम सभी को सब से इज़्ज़त से बात करनी चाहिए, कभी ये नहीं सोचना चाहिए की सामने वाले हमसे अच्छे से बात कर रहा है की नहीं, अगर वो हमसे अच्छे से बात नहीं भी कर रहा है तभी हमें उससे सलाम करना ही चाहिए।
  • इंसान के अंदर एक बात बहुत ही ख़राब होती है की वो अपने ऊपर घमंड करने लगता है, ये बात बहुत ख़राब है हम सब को अल्लाह ने बनाया है अपनी बन्दगी करने के लिए, और अल्लाह के सामने तो उसके सरे बन्दे एक बराबर है, जरा सोचिये जब हम इस दुनिए से रुखसत हो जायेगे तो क्या हमारे (घमंड) काम आएगा, की हमरे नेक किये हुवे काम हमारे काम आयेगे. ये बात सोचने की है सोचिये जरा!!

kuch-khubsurat-baate-wa-khayalat-peshe-nazar

  • ये बात आम हो गयी है की अगर कोई इस्लामिक पेज पर कोई पोस्ट ऐड की जाती है और वो इस्लामिक होती है तो आज का मुस्लिम उस पोस्ट को पड़ना भी गवारा नहीं करता, जब की अगर कोई गैर इस्लमिक पेज पर कोई पोस्ट होती है तो वो उससे पूरी गौर से पढता है, ये बात इस बात के तरफ इशारा करती है की हमारे घरो में इसममिक तालिमो से जाएदा, गैर इस्लामिक तालीम की फ़िक्र जयदा है, गैर इस्लामिक तालीम भी जरुरी है. पर अपने घरो में इस्लामिक तालीम उतनी ही जरुरी है, जितनी दुनियावी तालीम!!!!

Aaj kal Insaan Duniya Mai Itna Kho Gaya Hai Ki Ye Bhul Gaya hai

  • आज कल इंसान दुनिया में इनता खो गया है की ये भूल गया है की वो क्या है और उससे क्या करना चाहिए, इस दुनिया में मशहूर होने के लिए वो सरे काम कर रहा है जो अल्लाह ने मना फ़रमाया है, वो ये भूल गया है की इस दुनिया के बाद भी एक दुनिया है!!!
  • इंसान अगर चाहे तो वो आसमान को छू सकता है ये ताकत उसको कुदरत ने दी है, बस उसके दिल में लगग होने चाहिए कुछ करने की कुछ बन्ने की तभी वो कमियाबी पा सकता है
  • अच्छा इंसान सब से प्यार करता है और बुरा इंसान सिर्फ ऊपरी प्यार लोगो को दिखता है, क्योंकि वो खुद से प्यार करता है और अपने से जयदा दिकमदार किसी को नहीं समझता। यही उस इंसान का सब से पड़ा पागलपन है.

Ek Wo Jo aapko Kamiyabi Pate Dekh Kar Khush Hote hai

  • दुनिया में दो टाइप के इंसान मिलते है एक वो जो आपको कमियाबी पाते देख नही सकते, और एक वो जो आपकी कमियाबी पाते देख कर खुश होते है. तो अयेसे दोस्त बनाओ जो आपकी कमियाबी में आपके साथ हो और आपको कमियाबी पाते हुआ देख तो खुश हो. जिसके अंदर ये हुनर हो वो ही सच्चा दोस्त बन्ने की ताकत रखता है.

Fatal error: Uncaught Exception: 12: REST API is deprecated for versions v2.1 and higher (12) thrown in /home/irfansid/digitalhadith.com/wp-content/plugins/seo-facebook-comments/facebook/base_facebook.php on line 1273